कोरोनावायरस के नए वैरीएंट ने बढ़ाई दुनिया भर के देशों में चिंता, जाने इसके लक्षण

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्राॅन के सामने आने के बाद दुनिया भर के देशों में हलचल पैदा हो गई है| यह वेरिएंट सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पाया गया था| डब्ल्यूएचओ ने इस नए अलर्ट भी जारी कर दिया है| कई देशों नहीं स्थिति को देखते हुए तथा नई वैरीएंट के भयानक रूप को देखते हुए, ट्रैवल बैग भी लगा दिया है| अमेरिका तथा ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाले फ्लाइट्स पर प्रतिबंध लगा दिया है| इस नई वेरिएंट ने दुनिया भर के देशों में एक बार फिर भय पैदा कर दिया है|

दक्षिण अफ्रीका में 24 नवंबर को ओमिक्राॅन वैरीएंट के मामले की पुष्टि हुई थी| और पहला अज्ञात मामला 9 नवंबर को एकत्र किए गए नमूने में मिला था| दक्षिण अफ्रीका की बात यह वेरिएंट बोत्सवाना सहित कई और देशों में फैल गया है जिस कारण सभी देशों को पहले से ही डब्ल्यूएचओ ने अलर्ट जारी कर दिया है|

संयुक्त राष्ट्र संघ की स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा ओमीक्राॅन के अध्ययन करने में अभी समय लगेगा, इसके अध्ययन में यह देखा जाएगा कि कोरोना टीके का इस पर असर होता है या नहीं| स्वास्थ्य विभाग ने यह भी कहा है कि यह लोगों के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है|

ओमिक्राॅन वेरिएंट के लक्षण –
डब्ल्यूएचओ ने कहा है, वर्तमान SASR-Cov-2 PCR इस वैरीअंट की पहचान करने में सक्षम है| भारत भी इस नई वैरीअंट को लेकर सतर्क हो गया है| दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों को मुंबई में क्वॉरेंटाइन होना होगा यह भारत सरकार का फैसला है| साथ ही टेस्ट भी कराना होगा| दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रीय संचारी रोग संस्थान बताया है कि कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्राॅन संक्रमित होने पर कोई असामान्य लक्षण देखने को नहीं मिला है| डेल्टा की तरह ओमीक्राॅन से संक्रमित होने लोगों में भी कोई लक्षण नहीं देखे जा रहे हैं|

जानिए क्या है वेरिएंट?

जानकारी के मुताबिक कोरोनावायरस के अभी तक कई वैरीअंट सामने आ चुके हैं| दुनिया के सभी वैज्ञानिक भी नई वैरीअंट पर नजर लगाए हुए हैं| ओमीक्राॅन वेरिएंट में कई स्पाइक प्रोटीन म्यूटेशन है| और यह काफी ज्यादा संक्रामक है| कहा जा रहा है कि यह वैरीअंट इम्यूनिटी को तेजी से मां देने में अभी तक का सबसे ज्यादा खतरनाक वैरीएंट है| जिस कारण सभी देश इससे सतर्कता बढ़ाने लग गए हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *