रोड नहीं तो वोट नहीं की नीति पर डटी महिलाएं

पिथौरागड़। बेलतडी गांव की महिलाएं लगातार पिछले 38 दिनों से धरना दे रही है। बेलतडी गांव से मनोहरी देवी और रुकमणी देवी धरने पर बैठे है। तथा उनके नेतृत्व में गांव की अन्य महिलाएं भी धरने पर बैठ प्रशासन से सड़क की मांग कर रही है।

बेलतडी सहित छ गांव की महिलाएं लगातार पिछले 38 दिनों से धरना दे रही है। उनका कहना है, कि वे लगातार इतने दिनों से घर का कामकाज छोड़ धरने पर बैठी है। मगर फिर भी सरकार उनकी कोई सुध नहीं ले रही है वे सड़क की उम्मीद में धरना दे रही है फिर भी इसके बावजूद सरकार इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है। उनका कहना है कि आजादी के 75 साल बाद भी गांव तक रोड नहीं पहुंच पाई है इसे सरकार की विफलता ना समझे तो और क्या समझा जाए। उन्होंने कहा यदि रोड नहीं आई तो वे वोट भी नहीं देंगे तथा रोड नहीं तो वोट नहीं के नारे पर डटे रहेंगे।

वहीं दूसरी ओर मड़कनाली- सुरखालपाठक सड़क निर्माण के लिए ग्रामीणों ने 113 वे दिन भी अनशन जारी रखा। यहां गणेश सिंह और हिमांशु सिंह धरने पर बैठे तथा उन्होंने प्रशासन और जनप्रतिनिधियों पर अनदेखी का आरोप लगाया। ग्रामीणों ने कहा कि वह आंदोलन करने के लिए मजबूर है, क्योंकि प्रशासन उनकी एक छोटी सी मांग को जो कि जायज भी है पूरी नहीं कर रही है। संघर्ष समिति के अध्यक्ष ललित सिंह बिष्ट ने ग्रामीणों के समर्थन में कहा कि, ग्रामीणों को आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। क्योंकि सरकार उनकी कोई सुध नहीं ले रही है तथा वे तब तक पीछे नहीं हटेंगे जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं हो जाती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *