काम था पुलिस का मगर एक छोटे बच्चे ने बहादुरी के साथ निभाई जिम्मेदारी, पढ़ें पूरी खबर

मुजफ्फनगर। बीते शनिवार को एक चोर किसी डॉक्टर के सियाज कार को चुराकर भाग रहा था। मगर एक बच्चे ने बहादुरी दिखाकर उसे पकड़वाया और पुलिस के हवाले कर दिया जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर उसे जेल में डाल दिया।


बताया जा रहा है कि सियाज कार वसंत विहार निवासी डॉ विनोद वर्मा पुत्र नकली सिंह की है जिसे वे रोडवेज बस स्टैंड पर खड़ा कर अपने किसी काम के लिए चले गए। मगर डॉक्टर विनोद वर्मा का 13 वर्षीय पुत्र उसी कार में बैठा था। कुछ समय बाद वहां पर एक अनजान व्यक्ति आकर उस कार में बैठ गया और बच्चे से उतरने को बोला जब बच्चे ने मना कर दिया तो कवह व्यक्ति कार को चलाने लगा और बच्चे को धमकी देने लगा कर चुपचाप कार में बैठे रहे मगर बच्चे ने काफी शोर मचा दिया और चलती कार से कूद पड़ा। बच्चे ने काफी शोर करके आसपास के लोगों को इकट्ठा किया और लोगों ने कार का पीछा किया लोगों को कार के पीछे आता देख अनजान व्यक्ति और अधिक तेजी से कार को भगाने लगा मगर लोगों ने फिर भी उसे घेर लिया और पीट-पीटकर पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस की पूछताछ के दौरान अनजान व्यक्ति ने बताया कि वह अलवर राजस्थान का निवासी रामबीर पुत्र महेंद्र है। तथा उसने बैंक से लोन लिया था जिसे वह चुका नही पा रहा था इसलिए उसने किसी कार को चुराने का प्लान बनाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *