राहत- ओमिक्रोन नहीं है डेल्टा से ज्यादा खतरनाक, जानिए कैसे हुई इस बात की पुष्टि

देश और दुनिया इस वक्त कोरोना महामारी से जूझ रही है ऐसे में कुछ हफ्ते पहले कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ने दस्तक दी है। कोरोना के नए वेरिएंट से दुनिया के सभी देशों ने यातायात सुविधाओं पर भी प्रतिबंध लगा दिए तथा नए तरीके की गाइडलाइन जारी कर दी। दुनिया के सभी देश इस मंथन में है कि इस नई बीमारी से कैसे बचा जाए इसी बीच एक राहत भरी खबर सामने आई है डब्ल्यूएचओ ने ओमिक्रोन वेरिएंट पर रिसर्च करके कुछ बड़े खुलासे किए हैं डब्ल्यूएचओ के मुताबिक ओमिक्रोन डेल्टा से ज्यादा खतरनाक नहीं है डब्ल्यूएचओ ने सभी देशों से निवेदन किया है कि वह अपने अपने हवाई यात्राओं पर लगे प्रतिबंध हटा दें व ओमिक्रोन के लेकर दुनिया में जो अफवाह फैल रही है उससे सावधान रहें। क्योंकि दुनिया को डरने की नहीं बल्कि सावधानीपूर्वक वायरस से निपटने की जरूरत है।

यहां तक कि इस वायरस की पहचान करने वाली सबसे पहली डॉक्टर ने यह बताया कि जिन चार मरीजों में से एक मरीज को इस वायरस ने प्रभावित किया उसने मामूली से ही लक्षण दिखे जिसके बाद वह इंसान ठीक ही हो गया था अभी तक पूरी दुनिया में ओमिक्रोन वेरिएंट से मौत की कोई खबर नहीं आई है दुनिया में जितनी भी मौतें हो रही है वह कोरोना वायरस के कारण हो रही है ना की ओमिक्रोन के। यहां तक कि अमेरिका के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ के निदेशक डॉ फ्रांसिस कॉलिन्स ने यह जानकारी दी है कि अभी तक इस वायरस से संबंधित ऐसा कोई भी डाटा नहीं मिला है जो इसे खतरनाक बताता हो। इसलिए डब्ल्यूएचओ ने सभी देशों से गुजारिश की है कि वह अपने हवाई यात्रा प्रतिबंध हटा दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *