बंद हुआ मनसा देवी मंदिर रोपवे का संचालन, जाने कारण

हरिद्वार| मां मनसा देवी मंदिर के दर्शन यात्रा करने वाले रोपवे का संचालन बंद हो गया है क्योंकि रोपवे का संचालन कर रही कंपनी के अनुबंध की समय सीमा समाप्त हो चुकी है| जिसके कारण साल के पहले दिन लोगों को पैदल जाकर मंदिर में दर्शन करने पड़े|
संचालन कर रही कंपनी के अनुसार, अब संचालन तभी हो पाएगा, जब सरकार लीज बढ़ाएगी|
विश्व प्रसिद्ध धर्मनगरी में मां मनसा देवी मंदिर और चंडी देवी मंदिर पर जाने के लिए रोपवे का संचालन किया जाता है| जिसके कारण लोग आसानी से मंदिरों में दर्शन के लिए चले जाते हैं| इसमें मुख्य तौर पर महिलाओं, बच्चों, दिव्यांगों और बुजुर्गों को मंदिरों पर जाने में आसानी होती है|


एक आंकड़े के मुताबिक, मनसा देवी मंदिर के लिए चलने वाले रोपवे से रोजाना कम से कम 2000 से लेकर सीजन में 8000 तक यात्री आते थे| सरकार की ओर से 31 दिसंबर 2023 तक रोपवे से संचालन का अनुबंध बढ़ाया गया था, जो रविवार को पूरा हो गया| जिसके कारण नए साल पर मनसा देवी के दर्शन के लिए यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा|
रोपवे का संचालन कर रहे कंपनी के महाप्रबंधक मनोज डोबाल के अनुसार, समय बढ़ाने का निर्णय सरकार को करना है| सरकार की ओर से समय बढ़ाया गया तो तभी संचालन शुरू हो पाएगा|


मनसा देवी मंदिर पर चलने वाले रोपवे की लीज मई 2021 में समाप्त हो गई थी, परंतु सरकार की ओर से श्रद्धालुओं की सुविधानुसार रोपवे का संचालन 31 दिसंबर 2023 तक बढ़ाया गया था|
बता दें, आईआईटी रुड़की की ओर से भी रोपवे की जांच पड़ताल की गई थी| इसमें रोपवे काफी पुराना होने पर संचालन बंद करने की रिपोर्ट दी गई थी| विशेषज्ञों का कहना था कि रोपवे के संचालन से नुकसान हो सकता है| इसके बावजूद सरकार की ओर से रोपवे के संचालन का समय बढ़ा दिया गया था|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *