कच्चे तेलों में हुई बढ़ोतरी, जानिए कच्चे तेल के दाम बढ़ने से क्या असर पड़ा पेट्रोल और डीजल के दामों पर

pistol, pump, fuel-160119.jpg

कच्चे तेल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी का कारण कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रान है। कोरोना के नए वेरिएंट के कारण पिछले सप्ताह कच्चे तेल के दाम $70 प्रति बैरल से नीचे था, मगर वही कोरोना के नए वेरिएंट का असर है कि इस सप्ताह यह रेट बढ़कर $75 प्रति बैरल हो गए हैं। वहीं अमेरिकी बाजार में ब्रेंट क्रूड की कीमतों में 3.2 का इजाफा हुआ है।

वहीं कच्चे तेल के दामों में हुई बढ़ोतरी का असर अगर पेट्रोल और डीजल में देखा जाए तो अभी तक राहत की बात सामने आई है। आज लगातार 34 में दिन पेट्रोल और डीजल की कंपनियों ने इनके दामों में कोई इजाफा नहीं किया है। पेट्रोल कंपनियों ने आज यानी कि 8 दिसंबर 2021 को बुधवार की सुबह 6:00 बजे पेट्रोल के रेट जारी कर दिए हैं और इन कीमतों में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है। आज भी पहले की तरह देश का सबसे सस्ता पेट्रोल पोर्ट ब्लेयर में 82.96 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से बेचा जा रहा है, तथा डीजल 77.13 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। देश का सबसे महंगा पेट्रोल राजस्थान में 112.11 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से बिक रहा है। अल्मोड़ा में पेट्रोल 92.26 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से बिक रहा है। यह राहत की खबर है कि यह कीमतें पूर्ववत ही हैं आगे चलकर इन कीमतों में और गिरावट आ सकती है तथा देश में कच्चे तेलों के दामों में आई बढ़ोतरी का पेट्रोल और डीजल पर कोई भी असर नहीं पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *