कोवैक्सीन मनवा रही अपना लोहा, अब पहले से भी ज्यादा असरदार जानिए कैसे

भारत बायोटेक की कोवैक्सीन अब दुनिया भर में अपना लोहा मनवा रही है। कोवैक्सीन अब कोरोना के विरुद्ध 77.8 फ़ीसदी तक कारगर साबित हो रही है। कोवैक्सीन को पहले डब्ल्यूएचओ द्वारा मंजूरी मिल चुकी है तथा अब मेडिकल जनरल द लैंसेट ने भी इसे काफी प्रभाव कारी बताया है।लैंसेट ने अपने नए अध्ययन के तहत गुरुवार को यह बात कही कि भारत की कोवैक्सीन ना सिर्फ प्रभावकारी है बल्कि पूरी तरह से सुरक्षित भी है।

लैंसेट का कहना है कि कोवैक्सीन कोरोना के खिलाफ 77.8% प्रभावकारी है इसकी दोनों डोज शरीर में जाने के 2 हफ्ते बाद यह एक मजबूत एंटीबॉडी के रूप में रिस्पांस करती है। उनका यह भी कहना है कि नवंबर 2020 से लेकर मई 2021 तक 18 से 97 वर्ष की आयु के 24419 वोलेंटियर्स को शामिल करने वाले कोवैक्सीन के ट्रायल में इससे संबंधित कोई ऐसी प्रतिकूल घटनाएं नहीं पाई गई जिसकी वजह से इस वैक्सीन को नकारा जा सके लैंसेट के अनुसार भारतीय कोवैक्सीन ना सिर्फ कोरोना के लिए प्रभावकारी है बल्कि यह डेल्टा वेरिएंट के लिए भी 65.2% असरदार है। तथा गंभीर सिंप्टोमेटिक कोविड-19 के खिलाफ यह 93.4% कारगर साबित हुई है।भारत के लिए यह काफी गर्व की बात साबित हो रही है कि कोवैक्सीन को 17 देशों ने मंजूरी दे दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *