पैदा होने के बाद घर की बजाय जेल का मुख देखा बानी ने

22 जनवरी 2021 को हल्द्वानी की जेल में एक महिला दोषी को लाया गया था। महिला ने एक नाबालिक का विवाह जबरदस्ती करवाया था जिसके लिए महिला को पॉक्सो एक्ट के तहत दोषी करार दिया गया। महिला किच्छा की रहने वाली है। जब महिला को जेल में लाया गया तब वह गर्भवती थी।

तथा 31 सितंबर 2021 को महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हुई, जिसके बाद उसे एसटीएच हल्द्वानी भेज दिया गया। लेकिन उसकी हालत गंभीर होने के कारण महिला को ऋषिकेश के एम्स हॉस्पिटल में भेज दिया गया। एम्स हॉस्पिटल में महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया। जिसके बाद डिस्चार्ज होते ही उसे वापस जेल लाया गया। और उस नवजात बच्ची ने भी अपने मां के कर्मों की सजा के चलते पैदा होने के बाद घर की बजाए जेल का मुख्य देखा।

बीते सोमवार को ही पुलिस कर्मियों द्वारा व थाने के मुख्य अधीक्षक द्वारा महिला की बेटी का धूमधाम से नामकरण किया गया। व पंडित द्वारा उसका नाम बानी रखा गया बानी के नामकरण के दौरान थाने में 6 पौंड का केक भी काटा गया पहली बार थाने में इतना बड़ा केक आया था। तथा थाने की सभी बंदी महिलाओं को चाय और समोसे की पार्टी भी दी गई नामकरण के दौरान सभी बंदी महिलाओं ने क्षेत्रीय लोकगीत व हिंदी , पंजाबी गानों में डांस भी किया। तथा सभी पुलिसकर्मियों व मुख्य अधीक्षक द्वारा बानी को गर्म कपड़े व पैसे भेंट किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *