मोबाइल पर गेम की लत में ऐसा डूबा 12वीं का छात्र मां के मना करने के 2 दिन बाद मिली लाश

बिहार। खेलगांव खटंगा के निवासी रामकिशोर गुप्ता का पुत्र कृतक मोबाइल फोन पर गेम खेलने का आदी हो चुका था जिसके कारण मां ने फटकार लगाई तो कृतक घर से चला गया घर से जाने के 2 दिन बाद खटंगा तालाब से पुलिस को कृतक का शव बरामद हुआ।

दरअसल बात यह थी कि लॉकडाउन में बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई हो रही थी जिस कारण कृतक के पिता राम किशोर गुप्ता ने अपने बेटे को मोबाइल फोन पढ़ने के लिए दिया मगर बेटे ने उसका इस्तेमाल गेम खेलने के लिए किया। बताया जा रहा है कि कृतक ने दसवीं कक्षा 70% अंकों के साथ पास की थी और वह पढ़ाई में भी काफी अच्छा था। कृतक के पिता राम किशोर गुप्ता 2014 में आर्मी से रिटायर हुए थे कृतक एक आर्मी पब्लिक स्कूल में पढ़ाई कर रहा था तथा दसवीं तक उसने काफी अच्छी तरीके से पढ़ाई की भी मगर 12वीं में फोन आने के बाद वह दिन भर गेम में ही डूबा रहता था। जैसे ही लॉकडाउन हटा तो फिर कृतक के स्कूल से ऑफलाइन क्लास के लिए घर वालों को फोन आया मगर कृतक स्कूल जाने के बजाय अंदर वाले कमरे में चुपके से दिन भर गेम खेलता रहा जिसकी खबर दोपहर को कृतक की मां को लगी जिसके बाद उन्होंने उसे खूब फटकार लगाई। इससे नाराज होकर कृतक घर से निकल गया घर से जाने के 2 दिन बाद खटंगा तालाब के पास पुलिस को कृतक शव बरामद हुआ है पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *