अल्मोड़ा में हर्षोल्लास से मनाया गया राज्य स्थापना दिवस

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में आज कुलपति प्रो. एनएस भंडारी की अध्यक्षता में हर्ष उल्लास के साथ राज्य स्थापना दिवस मनाया गया| आज प्रोफेसर एनएस भंडारी ने कहा कि राज्य अब अपने युवा अवस्था में पहुंच गया है हमने राज्य स्थापना के उपरांत कई क्षेत्रों में कीर्तिमान रचे हैं जो हमारे लिए हर्ष का विषय है| उन्होंने कहां की राज्य बनने के उपरांत परिवर्तन होते आ रहे हैं| आरंभ से विकास की कई गतिविधियां गतिमान है|


कुलपति एनएस भंडारी ने पर्वतीय राज्य आंदोलन को लेकर अपने अनुभव को साझा करते हुए कहा कि राज्य आंदोलन को लेकर उस समय कई राज्य आंदोलनकारी समितियां जिम्मेदारियां समझते हुए कार्य कर रही थी, जिसमें प्रमुख संस्थाओं के रूप में पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक संगठन में मैंने भी बढ़-चढ़कर कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाई| केंद्रीय स्तर पर कार्य कर रही संघर्ष समितियों के साथ भी पर्वतीय राज्यों को लेकर कार्य किया| अल्मोड़ा में स्वर्गीय पीसी जोशी जी को स्मरण करते हुए कहा कि स्व. जोशी जी के नेतृत्व में अल्मोड़ा में बहुत शांत तरीके से पर्वतीय राज्य आंदोलन को लेकर भागीदारी निभाई|


उन्होंने आगे कहा राज्य बनने के बाद सभी क्षेत्रों में कई सकारात्मक परिवर्तन हुए| यहां के युवा शिक्षा क्षेत्र में इस देवभूमि का नाम राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ा रहे हैं| एनएस भंडारी ने विश्वविद्यालय के संबंध में कहा कि विश्वविद्यालय ने अपना रचनात्मक स्वरूप ग्रहण कर लिया है| नहीं विश्वविद्यालय में नवीन शिक्षा नीति संचालित की जा रही है साथ ही परीक्षा गतिविधियों का भी सफल संचालन हो रहा है व विभिन्न राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय शैक्षिक संस्थानों से एमओयू किए गए हैं| शिक्षा के क्षेत्र में भी हम आज बेहतर स्थिति में है साथ ही कहा कि विश्वविद्यालय में परफॉर्मेंस आर्ट जियोलॉजी होम साइंस सैन्य विज्ञान आदि विषयों को लेकर चर्चा की|
उन्होंने कहां शिक्षकों, कर्मियों, विद्यार्थियों सभी के सहयोग से हमने विश्वविद्यालय के लिए सकारात्मक कार्य किए हैं| और आने वाले समय में हमने और भी कई कार्य करने हैं भविष्य में हम विभिन्न विषयों को लेकर पुनः संरचना करेंगे|
राज्य स्थापना दिवस के इस अवसर पर शैक्षिक प्रो. शेखर जोशी को कलाश्री द्वारा चतुर्थ सरस्वती सम्मान दिए जाने पर कुलपति प्रोफ़ेसर भंडारी ने बधाइयां दी| इस अवसर पर परीक्षा नियंत्रक प्रो.सुनील कुमार जोशी, दीन अकादमिक प्रो.शेखर जोशी, विश्व विद्यालय क्रीड़ा प्रभारी लियाकत अली, विपिन जोशी, देवेंद्र पोखरियाल, त्रिलोक बिष्ट, कैलाश छिमवाल, एम एम पांडे, वीरेंद्र जोशी, विश्वविद्यालय मीडिया प्रभारी डॉ. ललित जोशी, गोविंद मेर व विश्वविद्यालय के अधिकारी व कर्मी शामिल थे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *