घोषणा के 10 साल बाद भी नहीं बना रानीखेत नया जिला, जानिए वजह

अल्मोड़ा।उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले से लगे क्षेत्र रानीखेत को 15 अगस्त 2011 में नया जिला बनाने की घोषणा हो चुकी थी। 15 अगस्त 2011 को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके रमेश पोखरियाल निशंक ने 4 नए जिले बनाने की घोषणा की थी जिसमें अल्मोड़ा के रानीखेत का नाम भी शामिल था मगर 10 साल गुजर जाने के बाद भी रानीखेत अल्मोड़ा जिले के अंतर्गत ही आता है दरअसल सरकार बदलने के साथ ही सरकार के किए हुए वादे भी बदल जाते हैं 2011 में सरकार ने जो वादा किया था उसे वह नहीं निभा पाए।

तथा उसके बाद उत्तराखंड में नई सरकार बनती रही और सरकार के वादों के बीच रानीखेत का जिला बनने का सपना भी अधूरा रह गया। इस साल भी सरकार यही तरीका अपना रही है विभिन्न पार्टियों का कहना है कि सत्ता में आने के बाद रानीखेत को एक नया जिला बनाएंगे। फिर से रानीखेत को लेकर दावे किए जा रहे है। रानीखेत से कांग्रेस के विधायक करन मेहरा का कहना है कि यदि कांग्रेस सत्ता में आई तो सबसे पहला काम कांग्रेस रानीखेत को नया जिला बनाने का काम करेगी जिसका एक मुख्यालय रानीखेत वह दूसरा रामगंगा में होगा। लेकिन जब सरकारें बनती है तो इस बात को टालती रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *