भारत- नेपाल की साझी संस्कृति है जौलजीबी मेला – हरीश रावत

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में आयोजित होने वाला जौलजीबी मेला पौराणिक होने के साथ-साथ ऐतिहासिक भी है। यह मेला पिथौरागढ़ में कार्तिक माह में आयोजित किया जाता है। इस वर्ष भी पिथौरागढ़ में 11 दिवसीय जौलजीबी मेले का आयोजन हुआ था जिसका समापन बीते गुरुवार यानी कि कल हो चुका है।
मेले में पहुंचे पूर्व सीएम हरीश रावत का कहना है कि जौलजीबी मेला भारत और नेपाल की साझी संस्कृति है तथा इसे सहेज कर रखना हम सबका दायित्व है।

जौलजीबी मेले में ना सिर्फ भारतीय बल्कि नेपाल के लोग भी काफी संख्या में पहुंचे थे तथा उत्तराखंड की प्रसिद्ध कुमाऊनी गायिका माया उपाध्याय ने मेले में कुमाऊनी गाने गाकर अपनी संस्कृति की लोगों को याद दिलाई तथा वही नेपाली गायकों ने भी मेले में खूब रौनक बढ़ाई। मेले में स्कूली बच्चों ने भी रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रतिभाग किया तथा दर्शकों को खूब रिझाया।मेले में पहुंचे पूर्व सीएम हरीश रावत ने मेले के सफल संचालन के लिए वहां के क्षेत्रीय विधायक हरीश धामी की खूब तारीफें की तथा वहां के स्थानीय लोगों ने पूर्व सीएम हरीश रावत का पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। मेले के समापन में पूर्व सीएम हरीश रावत तथा वहां के क्षेत्रीय विधायक हरीश धामी व क्षेत्रीय लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *