दहेज के भूखों ने फिर ले ली युवती की जान

दिल्ली यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर वीरेंद्र की पत्नी पिंकी के मौत का खुल चुका है राज। ड्यू यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत वीरेंद्र की शादी 9 महीने पहले गाजियाबाद निवासी पिंकी से हुई थी जिसकी मौत 2 दिन पहले ही हुई है पिंकी की मौत का जिम्मेदार पुलिस उसके देवर राकेश को मान रही थी क्योंकि राकेश ने खुद आकर पुलिस के सामने सरेंडर किया था। मगर जैसे ही पुलिस की जांच पड़ताल आगे बढ़ी तो इस मामले में दोषी पिंकी के पति वीरेंद्र को पाया गया जब वीरेंद्र से पुलिस ने पूछताछ की तो वीरेंद्र का कहना है, कि शादी के बाद पिंकी के मायके वालों ने उन्हें दहेज के तौर पर 5 लाख रुपए का चेक दिया था जो बैंक में जाने के बाद बाउंस हो गया।उसके बाद वीरेंद्र ने खुद को ठगा हुआ महसूस किया इसी के रोष में वीरेंद्र और उसके ममेरे भाई राकेश ने पिंकी को मारने की साजिश की उन दोनों की इस साजिश में वीरेंद्र के परिवार वाले भी शामिल थे।

वीरेंद्र और राकेश ने साजिश की थी कि पिंकी को मारने के बाद राकेश सरेंडर कर देगा और वीरेंद्र परिवार वालों का ख्याल रखेगा तथा राकेश को भी छुड़वाने की पूरी कोशिश करेगा। मगर पुलिस की तहकीकात के कारण असली दोषी का भी पता चल गया इस मामले मेंअभी तक पुलिस तीन लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है तथा आगे की कार्यवाही पुलिस द्वारा की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *