हरीश रावत का पार्टी आलाकमान को खत :- पंजाब प्रभारी के दायित्व से मुक्त करने का किया अनुरोध,पढ़े पूरी खबर

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं पंजाब के प्रभारी हरीश रावत ने आखिरकार पंजाब प्रभारी के पद को छोड़ने का निर्णय ले ही लिया, बीते लंबे समय से यह कयास लगाए जा रहे थे कि हरीश रावत को पंजाब प्रभारी के दायित्व से मुक्त किया जा सकता है।

https://kurmanchalakhbar.com/archives/779

हरीश रावत ने फेसबुक पोस्ट के माध्यम से यह जानकारी दी है कि वे पार्टी आलाकमान से पंजाब प्रभारी के दायित्व से मुक्त करने की बात कहेंगे उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि “मैं आज एक बड़ी उहापोह से उबर पाया हूंँ। एक तरफ #जन्मभूमि के लिए मेरा कर्तव्य है और दूसरी तरफ कर्म भूमि पंजाब के लिए मेरी सेवाएं हैं, स्थितियां जटिलत्तर होती जा रही हैं। क्योंकि ज्यौं-जयौं चुनाव आएंगे, दोनों जगह व्यक्ति को पूर्ण समय देना पड़ेगा। कल उत्तराखंड में बेमौसम बारिश ने जो कहर ढाया है, मैं कुछ स्थानों पर जा पाया लेकिन आंसू पोछने मैं सब जगह जाना चाहता था। मगर कर्तव्य पुकार, मुझसे कुछ और अपेक्षाएं लेकर के खड़ी हुई। मैं जन्मभूमि के साथ न्याय करूं तभी कर्मभूमि के साथ भी न्याय कर पाऊंगा। मैं, #पंजाब_कांग्रेस और पंजाब के लोगों का बहुत आभारी हूंँ कि उन्होंने मुझे निरंतर आशीर्वाद और नैतिक समर्थन दिया। संतों, गुरुओं की भूमि, नानक देव जी व गुरु गोविंद सिंह जी की भूमि से मेरा गहरा भावात्मक लगाव है। मैंने निश्चय किया है कि, लीडरशिप से प्रार्थना करूं कि अगले कुछ महीने मैं #उत्तराखंड को पूर्ण रूप से समर्पित रह सकूं। इसलिए #पंजाब में जो मेरा वर्तमान दायित्व है, उस दायित्व से मुझे अवमुक्त कर दिया जाय।”

https://kurmanchalakhbar.com/archives/771

अर्थ स्पष्ट है हरीश रावत अब पूरी तरह से उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सक्रिय होना चाहते हैं, वह स्वयं को मुख्यमंत्री के तौर पर भी पेश करना भी चाह रहे हैं, हरीश रावत के इस खत के बाद अनुमान लगाया जा रहा है कि बहुत जल्द ही उन्हें पंजाब प्रभारी के दायित्व से कर दिया जाएगा।

खबरों से अपडेट लेने के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *