एक दशक बाद पानी (हाइड्रोजन) से दौड़ने लगेंगे वाहन – पढ़ें पूरी खबर.

दिल्ली :- विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हो रही दिन प्रतिदिन विकास के क्रम में आज एक और खबर सामने आ रही है कि एक दशक यानी 2030 तक सड़कों में वाहन पेट्रोल-डीजल से नहीं बल्कि पानी से दौड़ेंगे जिससे डीजल और पेट्रोल की जरूरत नहीं पड़ेगी हम सभी को यह सुनकर हैरानी हो रही है पर विज्ञान के क्षेत्र में दिन-प्रतिदिन हो रही प्रगति को देखते हुए हमें इस बात पर भी भरोसा करना पड़ेगा.

क्योंकि पिछले दो-तीन दशकों से हमारे सामने कई ऐसी चीजें गायब हो गई है जिनकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते जैसे लैंडलाइन फोन रोल वाली मैन्युअल कैमरा टैब रिकॉर्डर जैसी कई चीजें हमारी आंखों के सामने से अचानक विलुप्त हो गई है
हम बात कर रहे हैं पानी से वाहन चलाने की यानी दिन प्रतिदिन बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल के विकल्प की दुनिया में अब तक कई ऐसे सफल प्रयास हो चुके हैं और कई कंपनियां पानी से चलने वाली गाड़ियां बनाने में लगी है अनुमान लगाया जा रहा है कि एक दशक के अंदर पेट्रोल और डीजल की विकल्प हाइड्रोजन का विकास हो जाएगा
जानकार यह अनुमान लगा रही है कि आने वाले वक्त में सड़कों पर कौन सा ईंधन राज करेगा वैसे तो पेट्रोल और डीजल के विकल्प के रूप में बैटरी वाली कार है पर पूर्ण रूप से इनको पेट्रोल और डीजल के रूप में नहीं लिया जा सकता क्योंकि इस तकनीक की अपनी सीमाएं है
लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले एक दशक में पेट्रोल डीजल के विकल्प के रूप में हाइड्रोजन का विकास हो जाएगा
.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *