इंद्रदेव ने बरसाए मेघ :- जल के लिए तरसे है लोग

अल्मोड़ा/ पिथौरागढ़/ बागेश्वर/चंपावत/
भगवान इंद्र देव ने सोमवार मंगलवार अट्ठारह 19 अक्टूबर को बरसने का फरमान सुनाया मेघ जमकर बरसे। हर किसी के मुंह से यही सुना किक ऐसी वर्षा कभी न देखी। इस बारिश ने पहाड़ के हर एक जनमानस को प्रभावित किया, धरती पर इतना अमीर वर्षा की असंख्य पनचक्कियो से लेकर न जाने कितनी ही जल विद्युत परियोजनाएं चल पड़ती, हमारे देश प्रदेश में वर्षा जल संरक्षण के साधन संसाधन ना होने से जहां-तहां टूट- फुट एवं जन तथा धन का ही मंजर दिखाई दिया
.

बड़ी खबर :- फेसबुक (Facebook) बदलने जा रहा नाम, पढ़ें पूरी खबर

हमेशा की तरह इस बार भी अतिवृष्टि के फल स्वरुप हमारे पहाड़ के गांव घरों में पानी के लिए हाहाकार मच गया है अल्मोड़ा बागेश्वर पिथौरागढ़ चंपावत नैनीताल जनपदों के साथ ही उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में अधिकांश पानी की पाइप लाइन टूटकर तहस-नहस हो गई है इसमें अल्मोड़ा नगर का जल संकट हमेशा की तरह आसमान से पानी बरसने के बाद अधिक गहरा गया है यहां कोसी नदी में है सिल्ट (कचरा) आने के बाद पंपिंग सिस्टम बाधित हो गया है और पिछले 3 दिनों से अल्मोड़ा में पानी के लिए हाहाकार मचा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *